Pearl

Pearl

250.00

मोती चन्द्रमा ग्रह से नियंत्रित अथवा प्रभावित होता है।

मोती एक चमकदार संघनित पदार्थ है, जिसमें मुख्यतः सीपी अथवा मुक्तास्तर होता है, तथा यह वह पदार्थ है, जो मोलस्क सीपी या शैल की भीतरी परतों का निर्माण करता है। समुद्री व ताजा दोनों प्रकार के जल के मोलस्क में मोतियों का निर्माण होता है। मोती की गुणवत्ता का निर्धारण उसकी चमक व रंगदीप्ति से होता है जो कि सीपी की परत से प्रकाश के अपवर्तन के कारण पैदा होती है। उत्तम दर्जे के मोतियों के मुक्तास्तर में कोई दोष अथवा धब्बे नहीं होते हैं, व इनकी संरचना या बनावट काफी चिकनी होती है। आकृति, आकार व रंग की नियमितता वे अन्य पहलू हैं जो इसकी गुणवत्ता को प्रभावित करते हैं। मोती अनेक आकार व किस्म में पाये जाते हैं। अर्धगोलाकार मोती सर्वोत्तम होते हैं। मोती सफेद, काला, लाल व क्रीम रंगों में उपलब्ध होते हैं। मोती से पारगम्य होने वाला वायवीय रंग संतरी है। एक अच्छा मोती मानसिक शक्तिवर्धन करता है, आवेग शान्त करता है, व शान्ति में वृद्धि करता है। यह ध्यान केन्द्रित करने के लिए अति उत्तम रत्न है। यह शुद्धता, ईमानदारी, भोलापन, एकाग्रता, धन, शान्ति व बुद्धि का विकास करता है। इसे कैल्शियम की कमी, हृदय की बीमारी, मधुमेह, कुपोषण, पागलपन व मस्तिष्क की अन्य बीमारियों में उपचार हेतु उपयोग किया जाता है |

  • प्रजाति:     प्राकृतिक मोती
  • पारदर्शिता:      पारभासी से अपारदर्शी
  • वर्ण:      सफेद, गुलाबी, रोज, क्रीम, पीला, हरा, नीला, धूसर, एवं काला
  • वर्तनांक:      1.530-1.686
  • दोहरा परावर्तन:      –
  • प्लिओक्रोइज्म:      –
  • माणिक आकार:      सामान्य
  • प्रकाशीय स्वभाव:      –
  • आपेक्षिक घनत्व:      2.7
  • मोहस की कठोरता:      2.5 – 4.5
  • छितराव:      –
  • प्रतिदीप्ति:      दीर्घ दैध्र्य जड से कठोर,ए लघु दैध्र्य जड से सामान्यतः चमकदार
  • पहचान के लक्षण:      चमकदार, दांत पर लगाने पर किरकिरीा महसूस होने वाली संरचना, कृत्रिम व असली में भेद करने का सर्वोत्तम तरीका एक्स किरणें हैं।
  • स्त्रोत:      प्राकृतिक, सीपी मोती – पर्शिया की खडी (बहरीन), श्रीलंका, वेनेजुएला, बंगाल, मुम्बई, आॅस्ट्रेलिया
  • दूसरे उपरत्न:      चन्द्रकान्त
Category:

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Pearl”

Your email address will not be published. Required fields are marked *